Skip to main content

Posts

Showing posts from July 22, 2015

मुस्कुराहट

तुम से दिल कि  तुझ से कोई बात होगी
मेरी तुम से कोई यू ही ये बात ज़रूर होगी

तेरी मुस्कुराहट यू भी  मेरे पास ही होगी
बात है अब वहीं जो कहीं बस ख़ास होंगी

तुझसे मिलने कि मुझे भी यू आस होंगी
"अरु"यू ज़िंदगी तेरे ही कभी पास होगी
आराधना राय


उम्मीद

उम्मीद कि सरजमीं बनी रहे
मेरा इश्क़ है जनून खुदा तू यू ही बना रहे। 
ज़िंदगी यू ही रवा होती रहे  वफ़ा है सादगी तेरी ये बात मुझ में बनी रहे। 
वो हसीन सा इल्ज़ाम दे रहे है  हम भी कोई दर्द दिल में हर लम्हा ही बसा रहे है। 
तेरी उम्र -दराज़ यू ही अब रहे
हौसला है दिलों में "अरु" जो यू ही बस बना ही रहे।
आराधना राय